Emergency Contacts

Precautions and medications for Swine Flu in Ayurved and Homeopathy
Blood Motions
Gastic Issues
Skin Infection

Download From Samaj Members Books Published Learn Hindi Stock New On Community

Alternative Therapy Treatment by Raajendra S Shah

  • Hindi
  • English

सीनियर थेरेपिस्ट राजेंद्र शाह ने किया ' आल्टर्नेटिव थेरेपी ' का विकास

आज के रहन- सहन व खान-पान की वजह से अनेक बीमारियाँ दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है । इनमें हार्ट अटेक व ह्रदय संबधी अन्य बीमारियाँ प्रमुख है । ऐसे में सीनियर थेरेपिस्ट श्री राजेन्द्र शाह द्वारा विकसित 'कोरोनरी हार्ट डिजीज' के इलाज के लिए आल्टर्नेटिव थेरेपी काफ़ी महत्वपूर्ण है! इसके अलावा बिना दवा के हार्ट ब्लॉकेज कम करना, कमर दर्द, साइटिका दर्द, स्पॉंडिलासिस, घुटने का दर्द, माइग्रेन, डिप्रेशन, वज़न कम करने एवं अन्य रोगो के इलाज की सलाह व उपचार करने वाले श्री शाह का नाम देश विदेश मे फैल चुका है! आप चिंकिंत्सक होने के साथ नेकदिल इंसान है, आपके पास आने वाला हर मरीज ठीक एवं खुश होकर जाता है ! सामाजिक गतिविधियों मे भी आपकी सक्रिय भागीदारी रहती है ! चिंकिंत्सक के रूप मे उत्कृष्ट सेवा एवं समाज के प्रति जागरूक रहने की वजह से आपको कई पुरस्कारो से सम्मानित किया जा चुका है! 'डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है' इस कहावत को श्री शाह ने पूरी तरह चरितार्थ किया है ! सीनियर थेरेपिस्ट श्री राजेंद्र शाह से ' राजस्थान के लाडले' संवाददाता द्वारा लिया गया साक्षात्कार प्रस्तुत किया जा रहा है : -


बीमारियों ले बचना है, तो लाइफ स्टाइल बदलनी होंगी : शाह

आप अपने बारे मे बताइए?

मै ग्राम दलतुंगी, जिला जामनगर (गुजरात), नाँदेड (महाराष्ट्रा) का मूल निवासी हूँ! मेरे पिताजी श्री शामजी शाह और माता श्रींमती हीरा बाई शाह का मुझे लाड - प्यार के साथ आशीर्वाद मिला, जिससे मै इस मुकाम तक पहुँच सका ! मेरी धर्मपत्नी स्व. श्रींमती भारती शाह है, पुत्र रोहन सी. ए. की पढ़ाई कर रहा है, पुत्री हीरल एम. एस. सी. माइक्रो बायोलॉजी और मीनल ने एम कॉम के साथ फायनॅन्स डिप्लोमा किया है! दोनो पुत्रियाँ विवाहित है! मैं बॉम्बे यूनिवर्सिटी से बी एससी होने के साथ नेचुरोपैथी (एन. डी) एक्यूप्रेशर थेरेपी (डी.ए.सी.) 'पास' थेरेपी, मेरीडीयन मसाज थेरेपी (डी. एम. एम.), मैग्नेट थेरेपी (डी. एम. टी.) और सर्टिफिकेट इन क्लिनिकल मेथड (सी.सी.एम) इन सभी का डिप्लोमा किया है!

कोरोनरी हार्ट डीजीज के इलाज के लिए आपने आल्टरनेटीव थेरेपी का विकास किया है, इसके बारे मे कुछ बताएं? यह थेरेपी नेचुरल, नुकसान न पहुँचाने वाली, तेज, बढ़िया और कोई साइड इफेक्ट नही पहुँचाती है ! योगासन, प्राणायाम, उचित भोजन और आराम से की जाने वाली एक्सरसाइज़ मरीज की लाइफ स्टाइल और विजन बदल देती है ! यह ट्रीटमेंट लेने के बाद उसका हार्ट युवा हो जाता है और उसका पॉज़िटिव आउटलुक हर सफलताता प्रदान करता है! उपचार के पहले दिन से ही मरीज पहले से अच्छा अनुभव करने लगता है और यह आर्टेरिज मे ब्लॉकेज के रीडेवलपमेंट की संभावना को कम कर देती है! इस थेरेपी मे अतिरिक्त दवा की ज़रूरत नही पड़ती! इससे मरीज को अपनी दिनचर्या को अच्छे तरीके से करने मे नई ऊर्जा मिलती है!

हृदय रोग के बारे मे और कुछ बताएं?

इस आधुनिक युग मे कोरोनरी हार्ट डिजीज (सीईसीडी) एक ज्वलंत समस्या है, शहरो मे १०-१२ प्रतिशत और गावों मे ४-५ प्रतिशत भारतीय इस बीमारी से पीड़ित है! भारतीयों मे अमेरिकियों से ३-४ बार, चीनियों से ६-७ बार और जापानियों से २० बार अधिक ख़तरा सीएचडी का है! हृदय संबंधी बीमारियों से (ब्रेस्ट कैंसर को छोड़कर) महिलाओं की मृत्यु अन्य बीमारियों से अधिक होती है ! ऐसा अनुमान लगाया गया है की भारत मे अगले १० वर्षों मे हर तीन मे से एक महिला की मृत्यु हृदय रोग से होगी!

हृदय रोगों से बचने के लिए क्या करें?

ऐसा देखा जाता है की जो लोग नियमित एक्सरसाईज़ करते है या मैंनुअली जॉब मे सक्रिया रहते है, उनमे हृदय रोग बहुत कम होता है ! एक्सरसाईज़ से तीन लाभ होते है ! १. मासपेशियों की साइज़ एवं स्ट्रेथ विकास करती है ! २. खेल या नौकरी मे बुद्धि तीव्र होती है ! ३. टालरेस और मांसपेशिया या अंग विकसित होते है ! हृदय रोगी को सुबह या शाम को १०-१५ मिनट गार्डन मे टहलना चाहिए ! इसके अलावा योगा जैसे पद्मासन, वज्रासन और शवासन करना चाहिए! ये आसन हृदय को लाभ पहुँचाते है, साथ ही मानसिक तनाव कम करते है और हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करते है !

घुटने का दर्द क्यो होता है, इसका कारण क्या है? इसका सफल इलाज क्या है ?

यह बीमारी प्राय: सभी घरों में पाई जाती है, जैसे घुटने का दर्द, कमर दर्द, साइटिका, फ्रोजन सोल्डर स्पान्डीलाइसिस , एन्कल पेन । इसकी वजह आज का रहन – सहन है । यह बीमारी पुरुषों एव महिलाओं दोनों में पाई जाती है । आज के मशीनी यूग में लोगों का चलना-फिरना कम हो गया है, इसकी वजह से मोटापा बढ़ ऱहा है, जिसके कारण तमाम बीमारियां होती है । इनसे बचने के लिए अपनी लाइफ स्टाइल बदलनी पड़ेगी ।

क्या इससे डिप्रेशन भी होता है ?

यदि इसका सही तरीके से सही समय पर इलाज नहीं किया गया तो व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार भी हो सकता है ।

एलोपैथी के अलावा कोई दूसरी भी थेरेपी आल्टरनेटिव थेरेपी मे आती है?

हां, नेचरोपैथी, एक्युप्रेशर, होम्योपैथी इसके अंतर्गत आती है । विश्वास कम होने की वजह से लोग पैसा खर्च करने की इच्छा नहीं करते है , जबकि आल्टरनेटिव थेरेपी से भी काफी फायदे हैं ।

क्या आप यह सब मुफ्त मे करते हैं?

मैं किफायती दर पर ट्रीटमेंट एवं कंसल्टिंग चार्ज लेता हूँ। छोटे - बड़े सभी को ध्यान मे रखकर ट्रीटमेंट फीस रखा हूँ, जो हर वर्ग के लोग देकर इलाज करा सकते है, क्योकि मुफ़्त की कोई वॅल्यू नही है! हम मरीज़ो को जो बताते है, वह उसको फॉलो नही करता है, इसीलिए इसका कोई मतलब नही रह जाता है! पैसा देने पर मरीज सीरीयस रहता हैं !

आपको कौन - कौन से एवार्ड मिले है?

मुंबई में जनवरी 2005 में साइन्स विथ स्पिरीचुअली फॉर ग्लोबल पीस के लिए हुए अपने दूसरे इंटरनेशनल कॉफ्रेन्स के दोरान ‘ जैन डॉक्टेर्स फेडरेशन’ मुबई ने एक्टिवली पार्टीसिपेशन का सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया। अभूतपूर्व सेवाओ और उपलब्धि के लिए ‘इंडिया इंटरनॅशनल फ्रेंडशिप सोसायटी ' द्वारा भारत ज्योति एवार्ड भारत ज्योति सर्टिफिकेट के साथ प्रदान किया गया । मुबई में साइन्स एंड स्पिरीचुअली की हुई 20वी वर्ल्ड कांग्रेस के दौरान एवार्ड ऑफ एप्रीसिएशन, स्पीकर एवार्ड एंड पार्टीसिपेशन सर्टीफिकेट से जोरोस्टयन कॉलेज मे सम्मानित किया! वर्ल्ड नेचुरल मेडिसिन फाउंडेशन और वर्ल्ड नेचुरल मेडिसिन ऑर्गनाइज़ेशन द्वारा ग्लोरीयस अचीवमेन्ट एवार्ड दिया गया । इंटरनॅशनल इन्स्टिट्यूट ऑफ सक्सेस अवेयरनेस ने अपने वार्षिक समारोह के दौरान इन्स्टिट्यूशनल एंड ग्लोबली रिपूटेड ग्लोरी आँफ इंडिया गोल्ड मेडल से सम्मानित किया ! 8 जनवरी 2007 को ग्लोबल फ्रेंडशिप डे पर इंडिया इंटरनॅशनल फ्रेंडशिप सोसायटी द्वारा नई दिल्ली में जेम आँफ इंडिया एवार्ड से सम्मानित किया गया ।

सौजन्य.. राजस्थान के लाडले, मुंबई (जन्वरी 2014)

"HEALTH IS WEALTH” - By Raajendra S Shah

Some time back seeing one movie impressed me deeply and brought certain useful conclusions which in a nut shell can narrate like this Opportunity and 10% change. The same concept has been adopted in my treatment. Eg. Consider alternative therapy for treatment of CHD is an opportunity & as you know treatment is risk free, affordable, without side effect & without operations just grab it is change.

To understand better I would like to give one more example, which is also related to your heart. Consider Human being (Men/Women) as an opportunity & change means change in life style by 10% this includes regular diet exercise, yogasan, positive thinking, positive attitude to words Sex etc. is besides equivalent to 80% effort put by patient during & after treatment. This Reduces heart problem & as a result heart is improved.

Apply this opportunity and change by 10% theory in your Business, Profession, Job Social affair, at home & everywhere & you will achieve your goal.

We have seen many successful people, but their health is very poor, & unable to enjoy the fruits of their achievement.

My friends if you want to achieve your goal and want to become a successful man/woman in life and want to enjoy the fruits of your achievement. Health is the base. That's why we call it "Health is Wealth". In true words Alternative Therapy is noble harmless, faster, better, risk free, free from side effect & economic too. Each & every therapies main goal is to give maximum relief in CHD but all have limitations. It is up-to you to decide which therapy to adapt.

ALTERNATIVE THERAPY FOR TREATMENT OF CORONARY HEART DISEASE

Dear Patients and all 40 plus,

Wish you healthy heart!

We all are aware about our heart and its problems. Let us discuss some facts about its treatment. We should understand Alternative Therapies thoroughly. Alternative Therapies means all other Therapies except allopathy.

Alternative Therapy for Cardiac problems is a combination of Naturopathy, Meridian Massage, Cardiac Acupressure, Bu-hang and Pas Therapy based on Meridianology. I give this treatment to my patients along with special diet, specific postures, typical breathing and walking exercises with determined mood. Collective effect of this treatment clears blockages from the arteries. The treatment is free from medicines and side effects. It improves blood flow towards heart.

Acupressure is familiar all over world, but in India, we know only Reflexology and Sujok. Its effect is temporary, while Cardiac Acupressure is based on Meredianology like Acupuncture which helps in removing artery blockages. Its effect is permanent.

Devaluation of this acupressure therapy is due to its misuse by some social organisations who arrange free camps with some Immature Acupressurists. It can help in some body aches and pains for some days, while Cardiac Acupressure based on Meridianology by expert Acupressurist is most successful in treating Cardiac problems.

I am fully qualified in Naturopathy, Cardiac Acupressure, Meridian massage therapies as well as Bu-hang and Pas Therapies, having done a lot of work on this theory by combining them and have successfully treated many Cardiac patients. Results are better and faster.

Although Coronary Heart Disease (C.H.D.) has no permanent cure, but it is highly Predictable, Treatable and Preventable. During last 30 years C.H.D. rate has decreased substantially in developed countries like USA, Canada, France and Finland due to nationwide changes in specific risk factors addressed through population based interventions.

In our great country, people from all walks of life, Urban or Rural, High or low Socio-Economic status are prone to C.H.D. Allopathy is very costly and not affordable for our middle-class citizens. Instead alternative therapy is affordable to our middle class and it is without risks, without pain and in good mood. In this therapy patients are active participants, because I give them one-two hours sitting once a week with many creative tips and patients work on them for the rest of six days. Thus, they contribute 80% treatment to make their own heart healthy sooner. They all become nephropath within two weeks and start to give acupressure points on their body as per my suggestions. After correct diagnoses end right treatment, heart starts to co-operate itself and recovery becomes faster naturally. Exercises and breathing practices help them a lot. Their positive outlook is half healer, which I develop in their mind and attitude.

Every patient is human being require proper guidance & treatment for faster recovery.

Raajendra S. Shah (Sr. Therapist)



As well as One should not forget that all therapies in the Universe have Limitations.



Raajendra S. Shah and Agarwal Community Disucssion.


Few days back on 24th March 2018, Mr. Raajendra Shah (Sr. Therapist) from Mumbai approached me for his advertisement in Agarwal Community website. We had fruitful discussion regarding his many disease treatment, later I asked him, Sir our Community spread all over India, if somebody from outside Mumbai wants your treatment will you be able to give treatment outside Mumbai?

On this Mr. Raajendra Shah has assured me Sure if they provide me 4 to 5 patients along with Travelling Allowance, lodging and boarding for 15 to 20 days, because my treatment duration is of 15 days.

Vishal Agarwal
(Founder Member: Agarwal Community)
9032074710